Real love story in Hindi 2019
Real love story in Hindi 2019

सच्ची प्रेम कहानी 2019

सच्ची प्रेम कहानी 2019

मुझे नहीं पता कि में अच्छा हूं या नहीं मगर में उन लोगो से प्यार करता हूं ।

जो मुझे अच्छा मानते है

जो नहीं मानते में उन्हें भी अच्छा मानता हूं । क्युकी जीवन  सब को अच्छे से रहना चाहिए ।

क्या पता कभी ये दिन हमें मिले या ना मिले ।

सच्ची प्रेम कहानी , story for kids, कहानियां

मुझे एसे की एक लड़की से प्यार हो गया । जिसमे घमंड तो बहुत था ।

और लोगो के लिए प्यार भी बोहोत था ।

वो लड़की छोटे छोटे बच्चो को कोचिंग पढाया करती थी।

में रोज उसके कोचिंग की छुट्टी का इंतजार करता था ।

और भगवान से यही दुआ करता था कब मुझे उसे दोस्ती होगी।

पहली नज़र में उसने मुझसे घमंड में बात की ताकि उसे पिछे ना पडू।

क्युकी मेरे कोचिंग के सारे लड़के उस पर नज़र रख रहे थे ।

क्युकी वो खूबसरत ही इतनी थी । लोगो का दिन जीत लेती थी।

अपनी एक छोटी सी हसी से जब मेरी उसे दोस्ती हुई तो पता चला उसका नाम प्रिया है वो

अभी 12 कक्षा में पढ़ती थी और साथ ही बच्चो को भी कोचिंग देती थी।

जब में उसे बात करने लगा तब मेरे कोचिंग से सारे लडके मुझसे दोस्ती करने लगे ।

सच्ची प्रेम कहानी , story for kids, कहानियां

क्युकी इसे पहले मुझे कोई जानता भी नहीं था किं में को हूं

मेरे कक्षा के 2 दोस्तो ने  उसे बात किया वो मेरे दोस्तो को भी पसंद आ गई थी ।

मेरा एक दोस्त उसे मोहबात करने लगा था । ये देख के मुझे दुख तो हुआ ।

पर में भी अपने दोस्त की इच्छा को पूरा करना चाहता था ।

फिर मेने प्रिया से बात की उस लड़की ने बहुत प्यार से

बोला तुम मेरे दोस्त हो अगर हम भविष्य में मिले तो अपने पापा को मेरे घर जरूर ले आना ।

तब में जरूर मिल जाएंगी तुम्हे । मुझे भी अच्छा लगा प्रिया की ये बाते सुनकर वो अपने

माता पिता का विश्वास बनाए रखी है मुझे ये बात सुन कर उसे और भी ज्यादा प्यार होने लगा ।

एक तरह मेरा दोस्त था दूसरी तरफ मैं मुझे इस बात का डर नहीं था

कि प्रिया नहीं मिलेगी मुझे । डर तो।

इस बात का था जब मेरे दोस्त को पता चलेगा तो वो क्या सोचेगा मेरे बारे में इसलिए । में

प्रिया को भूल ने लगा कोचिंग जाना बंद कर दिया ।

तभी मुझे पता चला मेरे दोस्त। ने उसको प्रपोज किया तब प्रिया ने गुस्से में आकर

उसको दाट दिया। जिसे वो मेरे दोस्तो से नाराज़ हो गई

और मुझे खोजने लगी कि में कोचिंग क्यों नहीं जा रहा हूं ।

तभी मेरे एक दूसरे दोस्त ने प्रिया से मेरी बात करती और प्रिया ने मुझसे पूछा आ नहीं रहे

हो कोचिंग मेने गुस्से में बोल दिया कि में अब कोचिंग कभी नहीं आऊंगा ।

उसे मुझसे बोला क्यों क्या बात है मेने कहा कुछ नहीं बस इतना है तुम दूर जा रही हो

मुझसे फिर प्रिया ने बोला किसने कहा कि में तुमसे दूर जारही हूं पग्लू ।

में बस बस तुम्हारे दोस्त से गुस्सा थी जिसने मुझे प्यार का इजहार किया उसे ।

क्युकी मुझे ऐसे लोग बिल्कुल पसंद नहीं जो प्यार में इंजार करना ना सीखे उस दिन से मेरी

उसकी दोस्ती और भी ज्यादा मजबूत हो गई । पर में फिर भी उसे से के नहीं सका कि में

बेइंतेहा प्यार करता हूं उसे कहीं दूर ना चली जाए ।

इसलिए अपने प्यार को मेने अंदर ही चूपा लिया ।

उसे भी मुझसे प्यार होने लगा था । पर उस ने मुझसे बोला नहीं क्युकी कहीं में लक्ष्य को हर

हाल में पूरा करना चाहता था जिस पर मेरा परिवार हमेशा साथ देता है मेरा इस लिए

उसने मुझसे कभी बोला भी नहीं की वो मुझसे प्यार करती है और में भी बस उसे साथ रहना

चाहता था। जिंदगी भर ना सही जब तक सासे है तब तक में उसका ही रहूंगा । में आज

भी इंतजार करता हूं कि कब आएगी मेरे पास वो आज भी उस दरवाजे के आगे बैठा होता है

 

सच्ची प्रेम कहानी , story for kids, कहानियां

 

 

More button