20191002_151146
सच्ची कहानी प्रेम की

सच्ची कहानी प्रेम की

सच्ची कहानी प्रेम की 

 सच्ची कहानी प्रेम की , Story for Kids कहानियां

मुझे आज भी याद है । जब मेरी कोई  गर्लफ्रेंड नहीं थी और में अपने दोस्तो के साथ रहता था

मेने सोचा भी नहीं था कि मेरी भी लड़कियों से बात करूंगा । मेरी जिंदगी का पहला दिन था ।

जिस लड़की ने मुझसे बात की थी । उस दिन रात भर नींद नहीं आती थी मुझे बस यही मेरे

मन में था । अब नजाने कब मुलाकात होगी । उस लड़की से उस दिन के बाद वो लड़की

मुझे नहीं दिखती थीं। दूसरे दिन में अपने दोस्तो के साथ आपने नाए कोचिंग में पड़ने

जाने लगा । वहां मेरी मुलाक़ात अविनाश नाम के भईया से हुई ।

जो हमको कोचिंग पढाया करते थे । तभी में उसके पास शाम को कोचिंग पढ़ने गया । वहा

मेरी मुलाकात एक लड़की से हुई जो बिल्कुल उस लड़की की तरह थी जिस लड़की ने मेरे

 सच्ची कहानी प्रेम की , Story for Kids कहानियां

नींद चुरा ले गई थी। ये लड़की भी सुंदर और संस्कारी थी । मुझसे लड़की की दोस्ती हो गई

। फिर मेने इस लड़की का नाम पूछा इस लड़की का नाम अनुराधा था जो बिलकुल

उसकी तरह थी। मुझसे इनकी दोस्ती हो गई । फिर अनुराधा ने एक दिन मुझे अपने घर पर

बुलाया तभी मेरी नजर उस पढ़ पड़ी जिसको में देखने को तरसता था । फिर बाद में पता

चला वो अनुराधा की छोटी बहन थी । फिर अनुराधा ने मुझसे दोस्ती करवाई। अपनी

छोटी बहन से जिसका नाम कोमल था धीरे धीरे मेरी दोस्ती और भी ज्यादा विश्वासी बनते

गई । दोनों बहन मुझ पर खुद से भी ज्यादा भरोसा करती थी । मुझे तो प्यार हो गया था

कोमल से पर मेने कभी बोला नहीं था । तभी  में अपने बारे में सोचने लगा कि वो तो मेरे से

सब में आगे है । मेरी वो गर्लफ्रेंड नहीं बन सकती । फिर मेने ये बात अपने दोस्त को

बोला कि में उसे मोहबत करता हूं बस के नहीं पा रहा हूं क्युकी में बोहोत मजबूर हूं क्युकी में

उसे कुछ दे ही भी सकता हूं । फिर मेरे दोस्त ने ये सारी बाते कोमल को जाके बोल दिया ।

मुझे लगा कि कोमल मुझसे नाराज़ हो जाएगी तभी उसने मुझे मिलने को बुलाया कोचिंग में

मुझे लगा वो मेरा मज़ाक बना देगी । पर मेने जो सोचा था वो सब गलत सोचा था ।उसने

तो मुझे अपने सीने से लगा कर मोहाबत का इजहर कर दिया और में आज भी ही उसके

साथ वो मेरी दिल की धड़कन की तरह चलती है मेरे साथ इसलिए कभी अपने आप को

किसी दूसरे से मत मिलाया करो अगर आपका प्यार सच्चा होगा हो जरूर मिलेगा

मुझे एक गलफ्रेंड भी मिल गई और एक दोस्त भी दोनों बहने की वजह से आज भी

लड़कियां में मशहूर हूं में । आज मुझे से लड़कियां बात करने को तरसती है में भी

उसको बोलता हूं टाइम सब का आटा है जब में तुम लड़कियों से दोस्ती करने आता था तब

तुम मुझसे किसी बहाने दूर भाग जाते थे और आज देख लो उन दोनों लड़कियों की वजह से

तुम मेरे पीछे आती हो  अब तो वो लड़की मेरी जान बन गई है अब सिर्फ उसका ही हूं में अब

किसी और कि जगह नहीं है मेरे दिल में आज खुश हूं कोमल के साथ और वैसे भी वो मेरी दिल है 

 सच्ची कहानी प्रेम की , Story for Kids कहानियां

 

More button