मेहनती भिखारी

क्या अभी भी इंसानियत बाकी है। मेहनती भिखारी

एक शहर में एक बिखारी बिख मांगता था । वो देख में ठीक दिखता था । कहीं से भी

उसके शरीर में कमी नहीं थी।  फिर भी वो भीख मांगता था । उसको भीख मांगना अच्छा

मेहनत से भिखारी बना करोड़पति Story for kids Storise all

नहीं लगता था । और वो हमेशा एक चोहराए पर भीख मांगता था । एक दिन वो सोचने

लगा कि में भीख क्यों मांगता हूं ।बस उसको इस बात का डर था । उसको एक अजीब तरह

कि बीमारी थी । इस वजह से को भीख मांगता था । हालाकि वो अपनी पढ़ाई पूरी कर

चुका था । फिर भी उसको कोई भी काम नहीं दे रहा था तो उसने एक चोहराए पर भीख

मांगना शुरू कर दिया । और हर राह चलते आदमी को से वो पैसे माग कर अपना घर

चलता था । अब उसकी आदत बन गई । एक दिन उस चोहराए से एक अमीर आदमी जा

रहा था । तो बिखरी ने उसे पैसे मांगने लगा । अमीन आदमी ने कहा तुम तो ठीक हो तुम्हे

भीख मांगने की क्या जरूरत है । यह बात बोल के वो अमीर आदमी चला गया । और

भिकारी ने दिन से सोचा अब भीख नहीं मांगूंगा । ये सोच कर वो अपने लिए काम

धुंडने लगा । और उसने सोच लिया था कि अब ने भीख नहीं मांगूंगा । ये सोच सोच कर

वो खाना नहीं आया और या नहीं उसने कही काम भी नहीं मिला । फिर भी वो अपने बात

पड़ डता रहा । और उसके पास पैसे नहीं थे घर चलाने को घर का रसा समान ख़तम हो

गया था । और उस भूख लगी थी । कुछ दिन तक उसने खाना नहीं खाया और उसकी

मेहनत से भिखारी बना करोड़पति Story for kids Storise all

तबीयत खराब हो गई  और मजबूत उसे फिर से भीख मांगने जाना पड़ा फिर वो चोहराय

पर भीख मांगना शुरू कर दिया । तभी फिर से वो अमीर आदमी रात को चोहराए से जा रहा

था । तभी अमीर आदमी ने पूछा तुम काफी दिन से दिखे नहीं । तो बिखरी उसे देखने लगा

और वो सोच रहा था में कुछ इनको अपने बारे में बताऊंगा तो मेरी मदद कर दे । ये सोच कर

भीकरी ने अमीर आदमी से अपने बारे में सब बता दिया जिसे सुन कर उस अमीर आदमी

के आखो में से आसू आने लगे । फिर उसने बिखरी से पूछा उसने कहा तक पडाई कर

रखी थी। तो बिखरी ने बोला में मेने ग्रजुवेशन पूरी कर चुका था ।फिर अमीर आदमी उसे

अच्छे कपडे दिला कर उसे अपने कंपनी में के जाता है । बि खारी ये सोच कर बहुत खुश

होता है और वो अमीर आदमी का धन्यवाद करता है फिर अमीर आदमी उसे बोला तुम

बस मेरे को निराश मत करना देखते ही देखते भिखारी अब कंपनी का ceo बन जाता है

और अपना इलाज भी करवाता है फिर एक दिन कमनी के लोगो ने उसकी शफालता के

पीछे एक पार्टी रखी जिसमे भिकरि उस अमीर आदमी को के आता है जो उसे कंपनी

ले कर आया था । फिर कंपनी के लोग उसके कामयाबी के बारे में पूछता है तो वो अमीर

आदमी के बारे में बोलता है आज में जो कुछ भी ही में अपने गुरु के वाजाह से हूं । इन्होंने

मुझे भीकारी से यहां भी लाया होता तो शायद में कंपनी का ceo नहीं होता ये बात सुनकर

अमीर बस यही बोलता है मेने तुम्हारी मदद इंसानियत के नाते की है

रही बात कामयाबी की तो तुम्हारी मेहनत कि है ।

More button