राजा और आलसी प्रजा

एक राजा के गांव में सारे आलसी थे ।

कई साल पहले एक गाव में एक राजा रहता था । जहा की प्रजा बहुत ही आलसी थे। और

कोई सारे लोग सोने के सिवा कुछ भी अच्छा नहीं लगता था । काम में बिना मान से काम

करते थे । एक दिन राजा ने सोचा हरी प्रजा तो बहुत ही आलसी है । इस प्रजा का कोई

उपाय निकालना होगा । यह बात सोच कर रहा ने एक सुझाव निकाला और उसने अपने

महल से एक घड़ा में सोना भर लिया और रात को बीच गांव में एक रास्ते पर गाढ़ा खोद के

राजा और आलसी प्रजा story for kids storise all article

वहीं पर रख दिया और वहा पर एक बड़ा सा पत्थर से ढक दिया और वहा की प्रजा सुबह

उठ के देखा जब को पठार बीच में आ रहा था बेल गाड़ियों का आना बंद हो गया था । और

फिर भी वहा की प्रजा इतनी आलसी थी कोई भी उस पठार को नहीं हटा रहा था । कई

लोगो ने तो बोला वो अपनी नींद क्यों बर्बाद करे इस पठार के पीछे फिर भी कोई नहीं

हटाया था उस पठार को देख कर राजा बहुत ही दुखी था कि प्रजा इतनी आलसी है एक

पठार भी उन्हें मुसीबत लगती है धीरे धीरे  गाव वालो को भी परी शनि हो रही थी कोई

लोगो ने सोचा कि हटा देता हूं पठार को लेकिन वो सिर्फ सोच कर है नहीं आते थे ।

कुछ बाद उस रास्ते से दस बेलगड़ी आ रहे थे राजा ने उस पठार पर अपनी नजर रखी हुई

थी । और दस बैलगाड़ियों को देख राजा बहुत ही खुश हुआ अब शायद गव वाले उस पठार

को हटा देंगे । ये सोच कर राजा एक पेड़ के पीछे छुप गया और दस बैलगाड़ियों का आने

का इंतज़ार कर रहा था । जब बैलगाड़ी वाले की नजर उस पठार पड़ पड़ी तो सिर्फ पठार

देख कर बैलगाड़ी वाले ने अपनी बैलगाड़ी घुमा लिया और दूसरे रास्ते चला गया । से देख

कर राजा बहुत ही दुखी हुआ ।राजा फिर व हा से अपने महल चला जाता है और अपने

सैनिकों को उस पठार पर नजर रखने को कहा ये सब देख कर राजा जी बहुत ही

परेशान हो जाते है और वो ये सोचते है अगर किसी ने प्रजा पर हमला किया तो प्रजा तो

बहुत जल्दी ही हर में जाएगी । फिर एक सैनिक ने देखा एक बुड़ा आदमी उस रास्ते पर

आ रहा था । सैनिक ने राजा को जल्दी से बताया । और राजा बहुत ही जल्दी वहा

आकर फिर से उसी पेड़ के पीछे छुप जाता है । और उस बूढ़े आदमी का इंतज़ार करता है

जब उस बूढ़े आदमी ने गवॅ वालो से पूछा येपथर हटाने ने मदद कर दो तो कोई भी

आदमी बाहर नहीं आया सब ने उस बूढ़े आदमी को पठार हटाने में माना कर दिया ।

खारी में उस बूढ़े आदमी को उस पठार को हटाना पड़ा और हटाने के बाद जब वो बु डा

आदमी एक घड़े में सोना चांदी देखता है फिर भी उस बूढ़े आदमी ने अपनी ईमानदारी

दिखाई और गवॅ वालो से पूछने लगा किसका है सोना चांदी देख कर गवॅ वालो ने एक दूसरे

से लड़ना शुरू कार दिया तभी वहा रहा आता है और बोलता है ये सब मेरा है अब वो भरा

हुआ घड़ा उस बूढ़े आदमी को देदेता है और बोलता है तुम सब बहुत आलसी हो अल्स पन

में तुम सब खो देगा। इसलिए हमेशा किसी भी काम में आलास नहीं दिखाना चाहिए  

More button