Dhanteras 2019

‏धनतेरस किस लिए मनाया जाता है 

धनतेरस कार्तिक कृष्ण की प्रयोदसी को मनाया जाता है 

इस दिन धन्वंतरि देव लक्ष्मी और कुबेर कि पूजा की जाती है 

और साथ साथ इस दिन 13 दिये जलाए जाते है ताकि 13 करोड़ गुना ज्यादा धन में वृद्धि हो

ओर यम का दिया इस दिन जरूर निकाला  जाता है रात में यम के दिए में आपको एक

कोड़ी या फिर एक रुपए का सिका जरूर डाले और सुभा जब दिया ख़तम हो जाए तो

उस सिके को लाल कपडे में अच्छे से बांध कर तिजोरी में रखे या फिर अपने पर्स ने रख ले

आपको धन की कमी कभी नहीं होगी साथ ही आप बुरे सपने

या बुरी शक्तियां या आकल मृत्यु से दूर रहेंगे 

dhanteras images 2018 diwali images dhanteras 2019 kab hai

धनतेरस की कहानी 

एक बार भगवान विष्णु धरती पर विचलन करने आ रहे थे । 

मालक्ष्मी हट करने लगी में भी चलूंगी । भगवान

विष्णु के कहा नहीं आप मत जाओ में जरहा हूं और कुछ ही समय में लौट आऊंगा 

dhanteras images 2018 diwali images dhanteras 2019 kab hai

पर मा लक्ष्मी अपनी जिद पर थी । फिर विष्णु भगवान ने कहा ठीक है आप चलो पर हमारी

एक शर्त है । आपको हमारा कहना वहा मानना होगा । माता लक्ष्मी ने कहा ठीक है

तब भगवान विष्णु माता लक्ष्मी को धरती पर ले कर जाने लगे । धरती पर पहुंचने के बाद

भगवान विषणु ने कहा माता लक्ष्मी आप यही विश्राम कीजिए हम दक्षिण दिशा से आते है

माता लक्ष्मी सोचने लगी प्रभु तो आज तक हमे ऐसा कुछ नहीं कहा फिर माता कुछ बात सो चने

लगी कि जरूर कुछ बात है भगवान विषणु दक्षिण दिशा की ओर चले गए । और माता

लक्ष्मी भी उसकी पीछे पीछे छुप कर जाने लगी । कुछ समय बाद उन्हें सरसो का खेत

मिला जिसे खेत को देख कर माता का मन बहुत ही खुश हुआ। और माता लक्ष्मी ने उस

खेट्से कुछ फूल लेकर अपने बालों में लगा लिया । और कुछ समय चलने के बाद उन्हें

गन्ने का खेत मिला । लक्ष्मी जी को गन्ने बहुत अच्छे लगते थे । तो उन्होंने उस गन्ने के खेत में

से एक गन्ना लेकर खाने लगी । तभी भगवान विष्णु वहा पर आज्ञे और माता लक्ष्मी से

नाराज़ हो गए । और उन्हें श्राप दे दिया । तुम्हें हमारे बोलने पर भी हमारे पीछे आके याह पर

आज्ञी । भगवान विष्णु ने कहा अब तुम 12 महीने एक किसान के घर में रहो गी श्रा

देने के बाद भगवान विष्णु झील सागर में चलेज्ञे 

लक्ष्मी मा एक गरीब किसान के घर में रहने लगी । एक दिन मा लक्ष्मी ने किसान की पत्नी

से कुछ कहा आप पहले स्नान कार्लो फिर मेरे हाथो से बनाहुआ पकवान है इस से आप मा

लक्ष्मी का पूजन करो फिर रसोई बनाना ओर खाना तुम्हारी मनोकामना पूरी होगी । किसान

की पत्नी ने ऐसा ही किया और उसके उसी ही दिन किसान कि पत्नी घन ओर रत्नों से भर

गया । किसान 12 महीने तो बहुत अच्छे से रहा 12महीने होने के बाद लक्ष्मी जी के जाने

का समय आया तो भगवान विष्णु उन्हें लेने आग्ये तब किसान को लोभ आज्ञा । मा लक्ष्मी

को जाने से मना कर दिया । भगवान विष्णु से बोलने लगा में नहीं जाने दूंगा तब भगवान वि शनू

dhanteras images 2018 diwali images dhanteras 2019 kab hai

ने कहा अरे वत्स भला लक्ष्मी को को जान देता है ये तो चीन चिला है कहीं भी चले जाते है ।

किसान फिर भी बात नहीं में रहा था तभी माता लक्ष्मी ने कहा कल कार्तिक कृष्ण पक्ष  की

त्रोदशी है अगर तुम चाहते हो कि हम ना जाए । तो अपने घर को अच्छे से लिप कर और

बहोत ही अच्छे साफ सफाई से रहना और रात में गाय के घी का दीपक जलाना तांबे के

कलश में एक सिका डालकर मेरी पूजा करना में वहीं पर वास करूंगी । ये कह कर माता

लक्ष्मी दशो दिशा में चली जाती है । अगले दिन किसान यही करता है और उसका घर

dhanteras images 2018 diwali images dhanteras 2019 kab hai

धन और रत्नों से भर जाता है । ओर यही से सुरु होती है धन तेरस की पूजा आरम्भ होने

की इस दिन बहुत ही अच्छे व्यवहार से रहना चाहिए 

More button